Read in English

स्टेटमेंट ऑफ पॉलिसी

पेटीएम ई-कॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड (“पीईपीएल” या “कंपनी” के रूप जाना जाता है) सभी लागू कानूनों और नियमों का कड़ाई से पालन करने और रिश्वत और अन्य भ्रष्ट बिजनेस या व्यापार प्रथाओं को रोकने और पता लगाने के लिए बिजनेस एथिक्स या व्यापार से जुड़ी नैतिकता के उच्चतम मानकों का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध है।
ईमानदारी और अखंडता के साथ कंपनी की प्रतिष्ठा एक अमूल्य धरोहर है। यह सेलर कोड ऑफ कंडक्ट (इसके बाद “नीति“) कंपनी के सभी सेलर्स (“भागीदार”) पर लागू होता है, (पार्टनर में शामिल है सभी कर्मचारी, डॉयरेक्टर्स, अधिकारी, सब – कांट्रेक्टर और एजेंट्स )
कंपनी जहाँ भी बिजनेस कर रही है, वहाँ के ट्रेडिंग या बिजनेस के सभी नियम और कानून का पालन करती है और साथ ही अपने पार्टनर्स की प्रतिष्ठा का पूरा ध्यान रखती है और सुनिश्चित करती है की ट्रांजेक्शन्स में किसी भी प्रकार की अनिश्चितता नहीं हो, साथ ही अपने पार्टनर्स के एसिट्स को सुरक्षित रखती है

हालांकि सेलर कंपनी से अलग एंटिटी या संस्थाएँ हैं, कंपनी की ओर से या उसके साथ बिजनेस करते समय सेलर्स का बिजनेस करने का तरीका और एक्शन, कंपनी पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं। इसलिए, इस पॉलिसी का किसी भी तरह से उल्लंघन कंपनी के साथ संबंधों को तुरंत समाप्त करने के साथ अनुबंध के निलंबन और दो साल की अवधि की कंपनी के प्लेटफॉर्म (“पेटीएम मॉल“) पर बेचे गए सामान की ग्रोस मर्चेंडाइज वैल्यू बराबर पेनल्टी लगाई जाएगी, अगर इससे पहले इस उल्लंघन के बारे में पता चल गया तो या ऑनबोर्डिंग तिथि से पेनल्टी लागू होगी।

उद्देश्य और गुंजाइश

कंपनी भारत में और विदेशों में अपने बिजनेस के संचालन में पेशेवर और नैतिक मानकों के उच्चतम स्तर को बनाए रखती है, चाहे कंपनी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अपने सहयोगियों के माध्यम से काम करे। यह पॉलिसी उन प्रोसेस या प्रक्रियाओं की विस्तार से जानकारी देती है जो पार्टनर पॉलिसी और अन्य लागू कानूनों का पालन सुनिश्चित करने के लिए करेगा, ये सिर्फ रिश्वतखोरी विरोधी और भ्रष्टाचार-विरोधी नियमों और विनियमों तक सीमित नहीं है

उपयुक्तता या व्यावहरिकता

प्रत्येक पार्टनर जो कंपनी से जुड़ा हुआ है या किसी भी कंपनी को याफिर किसी और की तरफ से कोई भी प्रोडक्ट या सेवा प्रदान करता/ प्राप्त करता है, इस पॉलिसी के तहत कवर किया गया है। यह पॉलिसी केवल गैरकानूनी गतिविधि तक ही सीमित नहीं होगी, बल्कि पॉलिसी साथ ही साथ सहायता करेगी और पालन भी करवाएंगी।

पॉलिसी का पालन

पार्टनर को ऐसा कुछ भी नहीं करना होगा, जिससे इस पॉलिसी का उल्लंघन हो। यह पॉलिसी कॉम्पिटिटिव या प्रतिस्पर्धी या व्यावसायिक मांगों, इंडस्ट्री कस्टम्स के कारण किसी भी छूट या अपवाद के अधीन नहीं है।

इस पॉलिसी का पालन सुनिश्चित करने के लिए पार्टनर को इंटरनल पॉलिसी या आंतरिक नीतियों की आवश्यकता होगी।

सभी पार्टनर्स को इस पॉलिसी का पूरी तरह और लगातार पालन करना चाहिए। इस संबंध में कोई भी प्रश्न कंपनी के ‘कंप्लायंस ऑफिसर’ से पूछा जा सकता है।

लागू कानूनों का पालन

रिश्वत, भ्रष्टाचार, गोपनीयता, डेटा सुरक्षा, कर्मचारी के काम आदि से संबंधित सभी राष्ट्रीय कानून, नियम और दिशानिर्देश कंपनी के लिए महत्वपूर्ण हैं। पार्टनर यह सुनिश्चित करेगा कि उनके कर्मचारी, सब कांट्रेक्टर और एजेंट इस पॉलिसी की शर्तों का पालन करेंगे और रिश्वतखोरी विरोधी, मनी लॉन्ड्रिंग और जहाँ बिजनेस है, उस जगह लागू सभी कानूनों का पालन करेंगे।

इस पॉलिसी में शामिल सिद्धांतों को लागू करने में निम्नलिखित बातों पर विशेष ध्यान दिया गया है:

  • भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988, भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) अधिनियम, 2018 “पीसीए”। यह भारत में लागू प्राथमिक भ्रष्टाचार-विरोधी अधिनियम है जो ‘पब्लिक सर्वेंट’ और ‘कमर्शियल आर्गेनाईजेशन’ के लिए इलीगल या अवैध ग्रैटीफिकेशन के भुगतान से निपटने के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं।
  • कंपनी अधिनियम 2013, कॉरपोरेट गवर्नेंस और कॉरपोरेट फ्रॉड या धोखाधड़ी की रोकथाम पर जोर देता है।
  • धन शोधन निवारण अधिनियम 2002, मनी लॉन्ड्रिंग को अपराध मानता है।
  • उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986, इसका मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं के हितों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करना है।

पॉलिसी के सिद्धांत

पार्टनर यह सुनिश्चित करेगा कि वे;

  • पेटीएम ईकॉमर्स पॉलिसी का पालन करें;
  • सूचना की गोपनीयता बनाए रखें
  • उनके व्यवहार में विश्वसनीयता हो;
  • जानकारी को कभी न छुपायें;
  • तथ्यों को गलत तरीके से पेश करने में शामिल नहीं हो;
  • उन कामों में कभी शामिल न हों जो कानूनों के विरुद्ध हैं;
  • कभी भी कोई भ्रम फैलाने वाले, झूठी, अनधिकृत, अवैध जानकारी प्रदान न करें;
  • किसी गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल न हों।

नैतिक व्यवहार

बिजनेस पार्टनर्स के बीच ईमानदारी और अच्छा व्यवहार अच्छे बिजनेस रिलेशनसिप के लिए आवश्यक है। कंपनी के लिए सभी संभावित और मौजूदा पार्टनर्स बराबर है और कंपनी मूल्य, गुणवत्ता और कंपनी सर्विस कैपेबिल्टी के साथ-साथ विश्वसनीयता और अखंडता जैसे उद्देश्य मानदंडों पर अपने निर्णयों लेती है। कंपनी प्राइस, प्रमोशन अलाउंस के लिए, मार्केटिंग असिस्टेंट या किसी भी तरह की कोई व्यक्तिगत सहायता प्रदान नहीं करती है। कंपनी को उम्मीद है कि उसके पार्टनर समान उच्च नैतिक मानकों का प्रदर्शन करेंगे और अपने सभी बिजनेस ट्रांजेक्शन्स को ईमानदारी और निष्पक्षता के साथ करेंगे।

उसभी पार्टनर्स को निम्नलिखित से बचना चाहिए((बस ये यहीं तक सीमित नहीं है) :

  • “रिश्वत या भ्रष्टाचार” जिसमें शामिल है (बस ये यहीं तक सीमित नहीं है) रिश्वत, कंपनी और/ या इसके कर्मचारियों के लिए पर्सनल फेवर या व्यक्तिगत स्तर पर एहसान, ज्यादा कैशबैक, प्रमोशन्स, दूसरों के बीच तरजीह देना आदि।
  • “अपराध” जिसमें शामिल है (बस ये यहीं तक सीमित नहीं है)गलत, नकली, क्षतिग्रस्त, दोषपूर्ण या पुराना माल।
  • “गलत प्रोडक्ट कैटलॉग” में शामिल हैं, पेटीएम मॉल पर गलत एमआरपी, गलत मैन्युफैक्चरिंग की तारीख, गलत एक्सपायरी की तारीख आदि।
  • “पेटीएम मॉल पर चल रहे कैशबैक / प्रमोशन” का लाभ उठाने के लिए, “यूजर्स / खरीदारों के साथ सांठगांठ करना” छोटी या बड़ी मात्रा में, खुद के द्वारा या खुद के लिए बेईमानी से ऑर्डर करना।
  • “सेलिंग प्रोहिबिटेड प्रोडक्ट्स” या निषेध उत्पाद को बेचना जो किसी भी कानून के तहत भारत में बिक्री के लिए प्रोहिबिटेड प्रोडक्ट्स की कैटेगरी में आते हैं।
  • “मल्टीपल अकाउंट क्रिएशन” या एक से अधिक अकाउंट बनाना जिसके कारण खाताधारक की पहचान गलत हो सकती है या उपभोक्ता कैटेगरी में कई आईडी बनाना

रिश्वत और फैसिलिटेशन पेमेंट्स

रिश्वत एक्टिव या पेसिव दो तरह से हो सकती हैं। एक्टिव ब्राइबरी या रिश्वत, यानि की जब कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को जो उसका काम है या कर्तव्य है उससे अलग हटकर अपने मुताबिक काम करने के लिए कहता है और उसके लिए कुछ देने की पेशकश करता है या वादा करता है।
पेसिव ब्राइबरी या रिश्वत, यानि कि किसी व्यक्ति को उसके कर्तव्यों से अलग हटकर गलत काम करने के उकसाने के लिए किसी अन्य व्यक्ति से डॉयरेक्ट या इनडॉयरेक्ट तरीके से कोई मूल्य या पैसे स्वीकार करना या मूल्य स्वीकार करने के लिए मनाना।

कोई भी कमर्शियल, कोंट्राक्टुअल, रेगुलेटरी, अन्य बिजनेस से संबंधित या व्यक्तिगत लाभ प्राप्त करने के लिए दिए जाने वाले लालच, इनाम की पेशकश, विशेष रुप से सहयोग प्रदान करना या प्रदान करने के लिए प्रतिबद्धता दिखाना रिश्वत होता है।

रिश्वत में फैसिलिटेशन पेमेंट्स या सुविधा सेवा भुगतान और इलीगल या अवैध ग्रैटीफिकेशन भी शामिल है। सामान्य सरकारी कर्मचारियों को सरकारी कार्रवाई को सुरक्षित या तेज करने के लिए फैसिलिटेशन पेमेंट्स करना यानि की अनऑफिशियल पेमेंट्स या अनौपचारिक रुप से भुगतान करना।

इलीगल या अवैध ग्रैटीफिकेशन के उदाहरण हैं-: महंगे उपहार, कंट्री क्लब मेंबरशिप की फीस का भुगतान, घरेलू रखरखाव का खर्चा, सेल फोन के बिलों का भुगतान, यात्रा से संबंधित खर्चों का भुगतान, कंपनी के कर्मचारियों और/या सरकारी अधिकारी और उनके जीवनसाथी या बच्चे को गुप्त यात्रा की पेशकश, पर्यटन स्थलों की यात्रा की मेजबानी, महंगा खाना- पीना, कंपनी के कर्मचारियों या सरकारी अधिकारियों को या उनके चचेरे भाई या करीबी दोस्त को एयरलाइन की टिकट्स देना, कंपनी की कार देना, गेस्ट हाउस सुविधाएं, नौकरी की पेशकश, व्यक्तिगत एहसान, उनकी मर्जी के मुताबिक टैक्स या लोन की शर्तें। साथ ही कंपनी के कर्मचारियों और/या सरकारी अधिकारियों को खासतौर से धर्मार्थ अंशदान भी रिश्वत देने का एक उदाहरण हो सकता है।

रिश्वत या अनुचित लाभ कई रूपों में दिया जा सकता है या वादा किया जा सकता है। इसमें नकद भुगतान, कभी-कभी कंसल्टिंग फीस या परामर्श शुल्क या बिचौलियों के माध्यम से दिया गया कमीशन, यात्रा का खर्च और महंगे उपहार शामिल होता है। रिश्वत के रुप में दिए जाने वाले उपहारों या भुगतान के लिए कोई न्यूनतम राशि नहीं होती है।

रिश्वत पर प्रतिबंध:

यह पॉलिसी, जो पार्टनर्स हैं या बिजनेस से संबंधित हैं या कंपनी के ऑपरेशन्स का हिस्सा हैं, उन सभी को किसी भी कंपनी के कर्मचारी या सरकारी अधिकारी या प्राइवेट बिजनेस पार्टनर के आधिकारिक कामों या निर्णयों को गलत तरीके से प्रभावित करने या कोई अनुचित लाभ या व्यक्तिगत लाभ प्राप्त करने के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से रिश्वत, इलीगल या अवैध ग्रैटीफिकेशन, वित्तीय लाभ या अन्य किसी लाभ की पेशकश करने और उससे संबंधित वादा करने को सख्ती से मना करती है।

फैसिलिटेशन पेमेंट्स या सुविधा सेवा भुगतान पर रोक-

यह पॉलिसी पार्टनर्स को खुद के लिए या कंपनी की ओर से किसी भी प्रकार के फैसिलिटेशन पेमेंट्स या सुविधा सेवा भुगतान की पेशकश करने या स्वीकार करने से मना करती है।

मनी लॉन्ड्रिंग पर रोक

पार्टनर्स प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आर्थिक अपराधों, मनी लॉन्ड्रिंग आदि जिसमें कंपनी के अधिकारी या कर्मचारी शामिल हो या ना हो, ऐसी किसी भी व्यवस्था का हिस्सा नहीं बनेंगे

प्रतिस्पर्धा अधिनियम का अनुपालन

पार्ट्नरों को हर समय प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की शर्तों का अनुपालन सुनिश्चित करना होता है। पार्ट्नर कंपनी व उसके अन्य किसी पार्ट्नर के साथ, कंपनी को/द्वारा दिए जाने वाले उत्पादों/सेवाओं के संबंध में किसी प्रकार के प्रतिस्पर्धा-विरोधी अग्रीमेंट/ करार नही करना चाहिए।

कंपनी की संपत्ति

कंपनी संपत्ति” के अर्थ में कंपनी के लोगो वाले या बिना लोगो वाले सभी डेटा, बौद्धिक संपदा अधिकार, व्यापारिक सामग्री शामिल हैं और साथ ही ऐसी अन्य संपत्ति शामिल है जिस पर कंपनी का मालिकाना अधिकार हो।

बौद्धिक संपदा में ट्रेडमार्क, पेटेंट, कॉपीराइट, डिजाइन, सामग्री, डोमेन का नाम, तकनीकी जानकारी, प्रौद्योगिकी, ब्रांड और संचालन, बजट और व्यावसायिक योजनाओं सहित कंपनी की सभी गोपनीय और संवेदनशील जानकारी, आदि और अन्य कुछ चीज़ें भी शामिल हैं।

कंपनी की बौद्धिक संपदा बहुत क़ीमती है और कंपनी इसे चोरी और दुरुपयोग से बचाने और संरक्षित करने के लिए सभी कदम उठाएगी। साथ ही कंपनी किसी अन्य पक्ष और व्यापारिक सहयोगियों की बौद्धिक संपदा का भी सम्मान करती है और जानबूझकर इसका उल्लंघन नहीं करेगी।

हर एक पार्ट्नर को

  • बौद्धिक संपदा का उचित देखभाल और परिश्रम कर उसे दुरुपयोग, ग़लती से किसी और तक जाने या चोरी होने से बचाना चाहिए।
  • ऐसे सभी गोपनीय और संवेदनशील जानकारी की गोपनीयता बनाए रखें जो सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध नहीं है और कंपनी की प्रतिष्ठा को प्रभावित कर सकती है।
  • उन दस्तावेज़ों का ध्यान रखें, जिनमें ऐसी जानकारी हो और कम्प्यूटर पर मौजूद जानकारी के लिए भी ऐसे सावधानी बनाए रखने के लिए उन्हें खुली जगह पर नहीं छोड़ें।
  • कभी भी बिना उचित प्राधिकरण के उन दस्तावेजों या सॉफ़्टवेयरों को कॉपी/उपयोग या उसका वितरण न करें जो कि कॉपीराइट या लाइसेंस द्वारा संरक्षित हैं।
  • कंपनी से सेवा निर्वृत होने के बाद कंपनी से संबंधित किसी भी गोपनीय जानकारी का उपयोग नहीं करें।
  • कंपनी में सेवा के दौरान या कंपनी के साथ या सहयोग से किए गए किसी भी इनोवेशन या बनायी गयी किसी भी चीज़ पर दावा नही पेश कर सकते क्यूँकि वह कंपनी की सम्पत्ति है।

किसी भी सॉफ्टवेयर, इनोवेशन, कोडिंग या किसी अन्य प्रकार की बौद्धिक संपदा जो कंपनी के साथ आपकी पार्ट्नर्शिप के दौरान बनाया गया है, वह कंपनी की संपत्ति होगी और पार्ट्नर के पास यह अधिकार नही होगा कि वह उसे इस्तेमाल करे, उसमें बदलाव करे, उसे किसी बाहरी व्यक्ति के साथ साझा या उसका स्थानांतरण करे।

गोपनीयता और डेटा सुरक्षा

व्यक्तिगत डेटा” का अर्थ होगा किसी भी ऐसे प्राकृतिक/नैचुरल व्यक्ति से जुड़ी जानकारी जिसे पहचाना जा सकता है; और पहचाने योग्य नैचुरल व्यक्ति का अर्थ होगा वह व्यक्ति जिसे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से पहचाना जा सकता है, ख़ास तौर पर किसी एक पहचान के माध्यम से ही जैसे कि नाम, पहचान संख्या, स्थान डेटा, ऑनलाइन पहचानकर्ता के संदर्भ में है।

सभी दस्तावेज़ों, सॉफ़्टवेयर, एप्लिकेशन, पेपर, स्टेटमेंट, प्रोग्राम, प्लान और अन्य डेटा/जानकारी सहित प्राप्त या विकसित या एक्सेस की गई सभी ठोस और अमूर्त जानकारी, जिसमें कंपनी और/या अंतिम उपयोगकर्ताओं द्वारा प्रदान की गई किसी भी व्यक्तिगत डेटा/जानकारी तक सीमित नहीं है। कंपनी के साथ उसके व्यवसाय के दौरान भागीदार द्वारा प्राप्त/ग्राहक/साझेदार को भागीदार द्वारा गोपनीय जानकारी के रूप में माना जाएगा और भागीदार अनधिकृत पार्टियों को इसके प्रकटीकरण को रोक देगा और अनधिकृत प्रकटीकरण या उपयोग से जानकारी की सुरक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षा उपायों को बनाए रखेगा। । इस तरह की गोपनीय जानकारी के प्रसंस्करण में साथी हमेशा सभी लागू कानूनों और वैधानिक नियमों का पालन करेगा।

कॉन्फ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट

साझेदार के पास अपने अधिकारी, निदेशक, कर्मचारी, एजेंट या सलाहकार के रूप में सेवारत कंपनी का कोई कर्मचारी/निदेशक/अधिकारी नहीं होगा और न ही साझेदार का कंपनी के कर्मचारियों/निदेशक/अधिकारी के साथ कोई प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संबंध होगा, जिसके पास संभावित कंपनी को नुकसानदेह स्थिति में डालने की क्षमता एक साथी को दिखाई देती है। यदि ऐसा कोई संबंध मौजूद है, जिसका खुलासा कंपनी के लिए नहीं किया गया है, तो भागीदार ऐसे संबंध की शिकायत अनुपालन अधिकारी को तुरंत करेगा। यदि भागीदार एक व्यक्तिगत, एकल स्वामित्व या भागीदारी की चिंता का विषय है, तो भागीदार का अधिकार है कि न तो भागीदार और न ही एकमात्र मालिक और न ही किसी भी भागीदार के पास उसके रिश्तेदार, कोई कर्मचारी/निदेशक/अधिकारी या कंपनी के सलाहकार हों। यदि इस तरह के संबंध मौजूद हैं, तो उसी के बारे में साथी द्वारा अनुपालन अधिकारी को सूचित किया जाएगा।

श्रमिकों और कर्मचारियों से जुड़ी बातें

पार्ट्नर, अपने व्यवसाय के दौरान यह सुनिश्चित करेगे कि वह अपने सभी अधिकारी, कर्मचारियों, उप-ठेकेदारों, सलाहकारों और एजेंटों के सम्बंध में लागू होने वाले रोजगार और श्रम कानूनों का अनुपालन करते है। पार्ट्नर को नाबालिग़ बच्चों को काम पर नहीं रखना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे केवल उन कर्मचारियों को काम पर रखे जो देश के कानून के अनुसार न्यूनतम कानूनी आयु की आवश्यकता को पूरा करते हों।

पर्यावरण की रक्षा के लिए प्रतिबद्धता

कंपनी प्रतिबद्ध है कि वह प्रकृति द्वारा प्रदान की गयी सम्पदा को सुरक्षित रखने में अपना सहयोग दे। हम उम्मीद करते हैं कि हमारे पार्ट्नर सभी पर्यावरण कानूनों और नियमों का सख्ती से पालन करेंगे।

सोशल मीडिया संबंधित नीति

पार्ट्नर ख़ुद को कंपनी के प्रतिनिधि के रूप में दर्शाते हुए ना ही कुछ करेंगे, ना ही बोलेंगे और ना ही ऐसे विचार व्यक्त करेंगे जिनके लिए कंपनी को ज़िम्मेदार ठहराया जाए या कंपनी के साथ अपने व्यावसायिक संबंध/लेन-देन के संबंध में किसी भी जानकारी को सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर तभी साझा करेंगे जब कंपनी उन्हें ऐसा करने के लिए अधिकृत करे।

कंपनी और पार्ट्नर के बीच व्यापारिक संबंध/लेन-देन के संबंध में कोई भी सोशल मीडिया से जुड़े मुद्दे के बारे में, पार्ट्नर को जानकारी मिलने पर तुरंत ही अनुपालन अधिकारी को सूचित किया जाना चाहिए।

बुक्स, रिकॉर्ड और कंट्रोल

भागीदार विस्तृत और सटीक बुक्स और रिकॉर्ड बनाए रखेगा और आंतरिक नियंत्रण की एक प्रणाली जो सभी शेयरधारक ऐसेट्स के लिए जवाबदेही सुनिश्चित करता हो। यह आवश्यक है कि पार्ट्नर की बुक्स, रिकॉर्ड और वित्तीय विवरणों की अखंडता, सटीकता और विश्वसनीयता बनाए रखी जाए। ऑफ़ द खाता पेमेंट या किसी भ अनुचित भुगतान को कवर करने के लिए किसी भी धोखाधड़ी वाले लेखांकन प्रथाओं या पार्टनर की बुक्स और रिकॉर्ड के मिथ्याकरण को प्रतिबंधित किया जाता है।

गलत बुक्स और रिकॉर्ड के उदाहरणों में, एक चालान का भुगतान जो गलत या अमान्य हो, सामान्य खाता बही में अनुचित भुगतान का गलत विवरण, या एक सरकारी अधिकारी के अनुचित मनोरंजन को छिपाने के लिए एक गलत व्यय रिपोर्ट शामिल है।

पार्ट्नर के खातों की पुस्तकों में दर्ज किए गए सभी लेनदेन में लेन-देन और वाउचर के सटीक विवरणों का उल्लेख करने वाला कथन होना चाहिए, सभी सहायक दस्तावेजों जैसे चालान, खरीद ऑर्डर की प्रतिलिपि/सर्विस ऑर्डर, अनुमोदन और किसी भी अन्य प्रासंगिक दस्तावेज़ के साथ रखा जाना चाहिए। किसी भी लेनदेन के लिए कोई झूठी, मनगढ़ंत या कृत्रिम दस्तावेज या पुस्तक प्रविष्टि नहीं की जाएगी।

सभी खातों, चालान, ज्ञापन और अन्य दस्तावेजों और तृतीय पक्षों के साथ व्यवहार से संबंधित रिकॉर्ड को सटीकता और पूर्णता के साथ तैयार और रखरखाव किया जाना चाहिए। किसी भी लेनदेन को दस्तावेज या भ्रामक तरीके से दर्ज किए जाने के इरादे से दर्ज नहीं किया जाएगा।

व्यक्तिगत धनराशि का उपयोग इस नीति और कंपनी की अन्य नीतियों में से किसी भी नीति को प्रतिबंधित करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

बुक्स में रिश्वत छिपाने के उदाहरणों में प्रचार खर्च, बिक्री एजेंटों को किए गए भुगतान, उपहार और मनोरंजन पर व्यय और एजेंटों के कमीशन का भुगतान शामिल हो।

पार्ट्नर्ज़ की निगरानी

कंपनी एक नैतिक वातावरण में काम करने का प्रयास करती है और यह सुनिश्चित करना चाहेगी कि उसके भागीदार, उन नैतिक मानकों का भी पालन करें जो कंपनी के लोगों के साथ तुलना में हैं। पार्टनर्स यह स्वीकार करता है कि कंपनी-पार्टनर द्वारा इस नीति के अनुपालन की निगरानी कर सकता है।

डिस्क्लोज़र

प्रत्येक पार्ट्नर कंपनी को इस नीति के उल्लंघन की किसी भी घटना को रिपोर्ट करने के लिए ज़िम्मेदार होता है, क्यूँकि यह कंपनी को नकारात्मक या प्रतिकूल संचालन को प्रभावित कर सकती है। इस नीति की सामग्री और इस नीति के उल्लंघन के रूप में किस अधिनियम या आचरण का गठन या संचालन किया जाएगा, इसकी गहरी समझ/अंतर्दृष्टि पार्ट्नर के लिए अनिवार्य है।

व्हिसल ब्लोइंग मैकेनिज्म

सभी पार्ट्नर इस नीति के उल्लंघन के किसी भी उदाहरण को कंपनी के कंप्लायंस अधिकारी/अनुपालन अधिकारी को जल्द से जल्द रिपोर्ट करेंगे। इसके अलावा, कंपनी ने एक व्हिसल-ब्लोअर हेल्पलाइन की शुरुआत की है, ताकि पार्ट्नर्ज़ के कर्मचारियों को किसी भी उल्लंघन की रिपोर्ट करने में सक्षम बनाया जा सके। यह नीति शिकायतकर्ताओं की पहचान को जांच के दौरान गोपनीय रखेगी और इसका खुलासा दूसरों को केवल ‘जरूरत’ के आधार पर किया जा सकता है। इस संबंध में सभी शिकायतें whistleblower@paytmmall.com पर की जानी चाहिए।

पॉलिसी के उल्लंघन या संदिग्ध उल्लंघन के मामले में पार्ट्नर के खिलाफ रिपोर्ट की जाती है, कंपनी द्वारा एक जांच रिपोर्ट शुरू की जा सकती है और पार्ट्नर- कंपनी को संचालन के लिए आवश्यक सभी सहायता प्रदान करने का आश्वासन देता है।

नीति का पालन नहीं करना

नीति आवश्यकताओं का अनुपालन नहीं करने वाला कोई भी पार्ट्नर उचित कार्रवाई के अधीन होगा। इसमें कंपनी/या इसके समूह की कंपनियों के साथ अपने संबंध को तत्काल समाप्त करने और संबंधित कानून के तहत कानूनी कार्रवाई शुरू करने के अलावा दंड की वसूली शामिल हो सकती है। साथ ही पार्ट्नर को कंपनी/या उसकी समूह की कंपनियों से ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है।

जुर्माना और दंड

इस नीति का कोई भी उल्लंघन कंपनी के साथ अपने संबंधों को समाप्त करने के साथ अनुबंध के निलंबन/निरस्तीकरण के संपार्श्विक परिणामों के परिणामस्वरूप होगा, और दो साल की अवधि के लिए पेटीएम मॉल पर व्यापार सामान के सकल सामान मूल्य के बराबर दंड के अधीन होगा, पूर्व इस तरह के उल्लंघन की पहचान या ऑनबोर्डिंग तिथि से, जो भी पहले हो, से की जा रही है।

ऐसी परिस्थिति में, जहां पार्टनर के संचालन के संबंध में एक सरकारी संस्था द्वारा कंपनी पर जुर्माना लगता है, ऐसे में पार्ट्नर को बचाने में कंपनी द्वारा की गई लागत की प्रतिपूर्ति के लिए पार्ट्नर जिम्मेदार और उत्तरदायी होगा।

पार्टनर द्वारा प्राप्त की गई कोई भी सूचना, समन, रिकवरी प्रमाणपत्र जो कि पार्टनर द्वारा इस नीति का उल्लंघन/कथित उल्लंघन करता है, प्राप्त होने पर तुरंत अनुपालन अधिकारी के साथ पार्टनर द्वारा साझा किया जाना चाहिए।

स्वीकृति

पार्टनर और कंपनी के बीच मार्केटप्लेस एग्रीमेंट की स्वीकृति को आचार संहिता के रूप में माना जाना चाहिए।