0

Read in English

फाइनेंस एक्ट, 2020, के सेक्शन 194-O के तहत भारत सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को TDS काटने का आदेश दिया है। यह मार्केटप्लेस पर वस्तुओं और सर्विस की बिक्री आसान करने के लिये किया गया है।

यह अक्टूबर 1, 2020 से लागू किया जायेगा।

निम्न इससे जुड़े कुछ प्रश्न हैं उनके उत्तरों के साथ:

1. ई-कॉमर्स ट्रांज़ैक्शन पर TDS का क्या मतलब है?

एक ई-कॉमर्स ऑपरेटर को अपने मार्केटप्लेस पर बेचे गये प्रोडक्ट/सर्विस की ग्रॉस सेल का कुछ % TDS के रूप में काटकर सरकार को डिपॉज़िट करना होगा। यह सेलर द्वारा की गयी ऑफलाइन सेल पर मान्य नहीं होगा।

ग्रॉस सेल = प्रोडक्ट का बेस बिक्री मूल्य (GST छोड़ कर)। जैसे की:

प्रोडक्ट का बेस बिक्री मूल्य Rs. 95
लागू GST Rs. 5
पेटीएम मॉल पर प्रोडक्ट का बिक्री मूल्य Rs. 100
TDS राशि 0.75% x Rs. 95 = Rs. 0.71

2. TDS % क्या है?

वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये प्रोडक्ट/सर्विस की ग्रॉस सेल पर TDS % 0.75% है (मार्च 31, 2021 तक मान्य) व इसके बाद 1% होगा। यदि कोई सेलर परमानेंट एकाउंट नम्बर (PAN) या आधार नहीं देता है या उसका दिया PAN अमान्य है, तो उसके लिये 5% रेट लगाया जायेगा।

3. TDS प्रावधान कब से लागू होंगे?

ये प्रावधान 1 अक्टूबर 2020 से लागू होंगे।

4. क्या TDS नेट (Net) सेल, मतलब सेल्स रिटर्न और GST के मद्देनज़र रखते हुए, पर लागू होगा?

वर्तमान में लागू नियमों के अनुसार, TDS प्रोडक्ट/सर्विस पर प्राप्त किये गये ग्रॉस सेल की राशि पर लागू होगा।

*सरकारी स्पष्टीकरण पर अपडेट के अधीन

5. सेलर को TDS कटौती का क्या प्रमाण प्रदान किया जाएगा?

ये प्रावधान ई-कॉमर्स ऑपरेटर को सेलर को हर तीन महीनों में TDS सर्टिफिकेट प्रदान करना होगा। वर्तमान में लागू TDS प्रावधानों को ध्यान में रखते हुए, हम समझते हैं की सेलर https://incometaxindiaefiling.gov.in पर जा कर अपने फॉर्म 26A में TDS चेक कर सकते हैं एवं www.incometaxindia.gov.in पर ‘व्यू योर टैक्स क्रेडिट’ सुविधा का इस्तमाल कर सकते हैं।

*सरकारी स्पष्टीकरण पर अपडेट के अधीन

6. सेलर काटे गये TDS का क्रेडिट या रिफंड कैसे ले सकता है?

सेलर नियमित तिथिओं के अनुसार उस वित्तीय वर्ष का इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करके TDS का क्रेडिट या रिफंड क्लेम कर सकता है। इसके लिये, वह अपने टैक्स ऐडवाईसर से सलाह ले सकता है।

7. क्या इसके लिये इंडिविजुअल को PAN को आधार से लिंक करना अनिवार्य है?

भारत सरकार के अनुसार, PAN को आधार से लिंक करना इंडिविजुअल के लिये अनिवार्य है। यह 31 मार्च, 2021 तक किया जाना आवश्यक है। लिंक नहीं करने से 1 अप्रैल, 2021 से PAN निष्क्रिय हो जाएगा। निष्क्रिय PAN के लिए TDS का रेट 5% है।

8. मैं PAN और आधार कैसे लिंक कर सकता हूँ?

PAN और आधार को लिंक करने के लिये https://www1.incometaxindiaefiling.gov.in/e-FilingGS/Services/LinkAadhaarHome.html पर जाईये।

PAN से सम्बंधित डिटेल्स, आधार नंबर, व आधार में दिया गया नाम भरिये और आगे दिए गये स्टेप्स को फॉलो करिये।

9. यदि सेलर कम TDS कटौती हेतु सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करना चाहता है तो PAYTM E-COMMERCE PRIVATE LIMITED का TAN नंबर क्या है?

PAYTM E-COMMERCE PRIVATE LIMITED का TAN नंबर ‘DELP24323F‘ है।

10. सेलर कम TDS कटौती हेतु सर्टिफिकेट कैसे शेयर कर सकता है?

शेयर करने के लिये, कृपया अपने सेलर पैनल में स्तिथ सपोर्ट टैब के ज़रिये टिकट बढ़ाइये।

कृपया यह सुनिश्चित कर लें की सर्टिफिकेट मान्य है और उसमें PAYTM E-COMMERCE PRIVATE LIMITED का नाम व TAN है।

सेलर पैनल पर उपलब्ध रिपोर्ट में सेक्शन 194O के तहत TDS की वजह से की गयी कटौती का विवरण उपलब्ध कराया जाएगा।